प्रदूषण से बचाने वाले आहार Wellness

प्रदूषण से बचाने वाले आहार
Wellness

इस समय दिनोदिन बढ़ते प्रदूषण की मार से शायद ही कोई ऐसा हो, जो बचा हुआ हो। जो लोग सांस संबंधी रोगों से जूझ रहे हैं, उनके लिए तो यह समय परेशानी भरा समय है ही, ऐसे लोग जो पूरी तरह से से स्वस्थ हैं, उन्हें भी प्रदूषण के ख़तरनाक स्तर पर पहुंचने के चलते अपनी दिनचर्या में सावधानी बरतनी पड़ रही है। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे आहार की याद दिला रहे हैं, जिनके बारे में जानते तो आप भी हैं ही, बस याद में धुंधले पड़ने से हमारी दिनचर्या और दैनिक खान-पान से बाहर हो गए हैं। बस ज़रूरत है इन्हें अपने नियमित आहार में फिर से शामिल करने की। फिर देखिए इनका प्रभाव, प्रदूषण आपका कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा।

गुड़

विटामिन इ तथा फाइबर के गुणों से भरपूर बादाम के गुणों के बारे में भला कौन नहीं जानता। यह आंतरिक रूप से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत करता है। साथ ही हमें ये बात भी ध्यान रखने की ज़रूरत है कि प्रदूषण सेहत के साथ-साथ त्वचा की सुंदरता को भी अपनी चपेट में ले लेता है। ऐसे में विटामिन इ की खान बादाम त्वचा की रक्षा भी करता है। यह ह्दय को भी मज़बूती प्रदान करता है। प्रदूषण से प्रभावित हुए बाल भी बादाम से नया जीवन पा सकते हैं।

दही

ऐसा भला कौन सा घर होगा, जिसके किचेन में दही न मौजूद होता हो। दही के लाभकारी गुण सदियों से जाने-परखे हैं। कई लोगों का यह मानना है कि दही तासीर में ठंडी होने के चलते सर्दियों में कम प्रयोग करनी चाहिए, लेकिन ये सोच ठीक नहीं है। दही में मौजूद कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन इसे दूध के मुकाबले और बेहतर आहार साबित करता है। इसके अलावा दही में लैक्टोज़, फास्फोरस और आयरन जैसे तत्त्व भी भरपूर मात्रा में मिलते हैं, जो हमारे शरीर को प्रदूषण की मार झेलने में आंतरिक मज़बूती प्रदान करते हैं। यह सांस संबंधी इंफेक्शन से बचाव में कारगर साबित होती है, जो कि न सिर्फ़ प्रदूषण से भरे समय में, बल्कि सर्दियों की भी एक आम समस्या है।

शहद

शहद के फ़ायदे तो सदाबहार है। यदि गुनगुने पानी में नियमित रूप से शहद मिलाकर ख़ाली पेट पिया जाए तो यह शरीर के लिए अमृत समान गुणकारी है। इससे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता तेज़ी से बढ़ती है, जो कि किसी भी प्रकार के प्रदूषण का सामना करने में सक्षम बनाती है। दिलचस्प बात तो यह है कि इसका लाभकारी प्रभाव बढ़ते वज़न को काबू में रखने में भी सहायक होता है। साथ ही यदि प्रदूषण की चपेट में आने से आपके बाल व त्वचा भी बुरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं तो यह उसमें भी लाभकारी है। यदि आप प्रदूषण के चलते होने वाली खांसी से परेशान हैं तो रोज़ाना सोने से पहले गुनगुने पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पी लें। इससे आपको न सिर्फ़ खांसी से राहत मिलेगी, बल्कि खांसी के कारण पैदा होने वाला बलगम भी नहीं बनेगा और गले के दर्द में भी आराम मिलेगा। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ह्र्दय संबंधी रोगों में भी राहत पहुंचाने का काम करता है।

बादाम

विटामिन इ तथा फाइबर के गुणों से भरपूर बादाम के गुणों के बारे में भला कौन नहीं जानता। यह आंतरिक रूप से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत करता है। साथ ही हमें ये बात भी ध्यान रखने की ज़रूरत है कि प्रदूषण सेहत के साथ-साथ त्वचा की सुंदरता को भी अपनी चपेट में ले लेता है। ऐसे में विटामिन इ की खान बादाम त्वचा की रक्षा भी करता है। यह ह्दय को भी मज़बूती प्रदान करता है। प्रदूषण से प्रभावित हुए बाल भी बादाम से नया जीवन पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *