आचार्य चाणक्य के अनुसार बात बात पर महिलाएं गुस्सा क्यों करती हैं

According to Acharya Chanakya, why do women get angry over talk? It is very difficult to read the nature of any women..

आचार्य चाणक्य के अनुसार स्त्री को समझ पाना बहुत ही मुश्किल होता है। औरत को समझना ऐसा होता है जैसे समुद्र की गहराई नहीं नापी जा सकती है। ऐसे में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि बात-बात पर गुस्सा करने वाली और चिल्लाने वाली औरतें किसी से कम नहीं होती हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि गुस्सा करने वाली महिलाएं अकसर यहां पर मात दे जाती हैं। गुस्सा करने और चिल्लाने वाली औरतों का चरित्र अजीब होता है। लेकिन ऐसी औरतों से लोग बचना चाहते हैं। बल्कि ऐसी महिलाओं के बारे में लोग कई प्रकार के अपशब्द भी बोल देते हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर आपके घर में भी कोई ऐसी औरत है जो बात-बात पर गुस्सा करती है, तो ऐसी महिलाओं का त्याग करना ही उपयुक्त होता है। तो आइए आप भी जानिए बात-बात पर गुस्सा करने वाली महिलाओं का सच।

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि बात-बात पर गुस्सा करने वाली महिलाएं हर तरफ से घातक होती हैं। अगर कोई स्त्री या आपकी पत्नी हरदम गुस्से में रहती है, और वो शांत व्यवहार में कम ही दिखाई दें तो हमें ऐसी पत्नी का त्याग कर देना चाहिए। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि भले ही आपकी पत्नी सुन्दर हो, परन्तु उसका गुस्सा उसके स्वभाव में हो तो उसके साथ जीवनयापन काफी मुश्किल होता है।

प्यार के मामले में गुस्सा करने वाली महिलाएं बहुत ओच्छी होती हैं। बात-बात पर गुस्सा करने वाली महिलाओं का स्वभाव बिलकुल भी अच्छा नहीं होता है। ऐसी औरतों का क्रूर व्यवहार इनके पाटर्नर को इनसे दूर कर देता है। ऐसी औरतों के जीवनसाथी भी इनसे पीछा छुड़ाने में ही अपनी भलाई समझते हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि बात-बात पर गुस्सा करने वाली औरत सच्चाई को छिपा लेती है। और वह सच्चाई को कभी उजागर भी नहीं करती है। ऐसी महिलाएं झूठ का सहारा अकसर लेती हैं।

आचार्य चाणक्य के अनुसार बात-बात पर गुस्सा करने वाली महिला पर विश्वास करना अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा होता है। गुस्सा करने वाली महिला का चरित्र भी अच्छा नहीं होता है। ऐसी महिलाओं के कई अन्य लोगों से भी संबंध होते हैं। ऐसी महिलाएं अपने पाटर्नर को कभी भी धोखा दे सकती हैं। अगर कोई औरत बात-बात पर गुस्सा करती है तो उससे जितना जल्दी हो सके, उस महिला से दूरी बना लें। इसी में आपकी भलाई है। ऐसी महिलाओं के दिल में ममता नाम की कोई भी चीज नहीं होती है। ऐसी महिलाएं प्यार क्या है इसके बारे में कुछ भी नहीं जानती हैं।

बात-बात पर गुस्सा करने वाली औरत बड़ी शातिर होती हैं। ऐसी महिलाएं बहुत ही ज्यादा चालाक होती हैं। ऐसी महिलाएं किसी जाल में फंसकर खुद ही बंध जाती हैं। लेकिन साथ ही ऐसी महिलाएं उस जाल में दूसरे लोगों को भी फंसा देती हैं। ऐसी महिलाओं के साथ दोस्ती करना लोगों को भारी पड़ जाता है। ऐसी महिलाएं कभी किसी का भला नहीं करती हैं। बात-बात पर गुस्सा करने वाली औरत गहरे राज को भी छिपा नहीं पाती हैं। ऐसी महिलाएं अपने क्रोध के कारण उस बात को फैला देती हैं।

बात-बात पर गुस्सा करने वाली औरत का रिश्ता लंबे समय तक टिक नहीं पाता है। इनका गलत व्यवहार और नाक पर हमेशा गुस्सा का रहना घर की बर्बादी का कारण बनता है। बात-बात पर गुस्सा करना शास्त्रों के अनुसार शुभ नहीं होता है। बात-बात पर जो औरत गुस्सा करती है। वो औरत स्वयं अपनी बर्बादी लिख देती है। आचार्य चाणक्य के अनुसार ये बात तो तय है कि बात-बात पर गुस्सा करना अहंकार को दर्शाता है। जोकि किसी भी औरत के लिए ठीक नहीं होता है। बात-बात पर गुस्सा करना भी शास्त्रों में पाप माना गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *