Good Luck News: धन को अपनी और खींचती है काली गुंजा, घर को कर देती है मालामाल

Good Luck News: धन को अपनी और खींचती है काली गुंजा, घर को कर देती है मालामाल

पैसों के बिना जीवन का गुजारा होना मुश्किल है। इसलिए लोग पैसे कमाने के लिए दिन-रात मेहनत करते है। बावजूद इसके कोई लाभ नहीं हो पाता। ऐसे में कुछ उपाय कर आप धनवान बन सकते है। वास्तु शास्त्र में काली गुंजा के उपायों को बेहद चमत्कारी माना जाता है। काली गुंजा की माला पहनने से इंसान को सुखों की प्राप्ति होती है। साथ ही इसकी माला नजर दोष से भी बचाती है। मान्यता ये भी है कि किसी भी प्रकार का संकट आने से पहले सूचना मिल जाती है।

 

वास्तु शास्त्र के मुताबिक काली गुंजा की माला पहनने से किसी प्रकार के नजर दोष का खतरा नहीं रहता है। काली गुंजा को माला, ब्रेसलेट के रूप में धारण किया जा सकता है।

अगर काली गुंजा की माला से शत्रु भी भयभीत रहते हैं। काली गुंजा की माला पहनने से शत्रु भी दोस्त बन जाता है। इसके अलावा इसे पहनने से शत्रु का प्रभाव कम हो जाता है।

अगर किसी इंसान को वश में करना चाहते हैं तो इसके लिए जिस व्यक्ति को वश में लाना है उसके रुमाल या किसी कपड़े में सिद्ध काली गुंजा के कुछ दाने बांधकर रख दें। मान्यता है कि बहुत जल्द इसका असर दिखने लगता है। इसके अलावा जिस व्यक्ति को अपने वश में करना चाहते हैं उसके पास काली गुंजा की माला पहनकर जाएं। इसके बाद गले में से उतारकर उसके गले में माला पहना दें। ऐसा करने से सामने वाला वश में आ जाता है।

यह भी पढ़ें- चावल के महज 5 दाने आपको बना देंगे बेहद अमीर, पास होंगी लग्जरी गाड़ियां, बस! रोजाना करें ये छोटा सा उपाय

किसी महीने के शुक्लपक्ष में बुधवार के दिन एक तांबे का सिक्का और काली गुंजा की माला को लाल कपड़े में बांध लें। इसके बाद दोपहर के वक्त सुनसान जगह में अपने ऊपर से 11 बार उतारकर 11 इंच गहरा गढ्डा खोदकर उसमें दबा दें। ऐसा करने से बिजनेस में  आर्थिक उन्नति होने लगती है। साथ ही पैसों की कभी कमी नहीं रहती है।

माना जाता है कि काली गुंजा के प्रभाव से नौकरी या व्यवसाय में आने वाली रुकावटें खुध समाप्त होने लगती हैं। साथ ही घर में धन-वैभव की भी कभी नहीं होती है। इसके अलावा कई स्थानों पर नए शादीशुदा जोड़ों को काली गुंजा की माला पहनाई जाती है। जिसके इन्हें बुरी नजर नहीं लगती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *