Chaitra Navratri 2020: Day 2 नवरात्रि के द्वितीय दिन मां ब्रम्चारिणी की पूजा होती है।

Chaitra Navratri 2020: Day Two Navratri Maa Brahmacharinii Puja Vidhi

Chaitra Navratri 2020: Day Two Navratri Maa Brahmacharini Puja Vidhi. Read and learn Maa Bramacharini ki aarti in Hindi.

नवरात्रि के द्वितीय दिन मां ब्रम्चारिणी की पूजा होती है।

Chaitra Navratri 2020: Day Two Navratri Maa Brahmacharinii Puja Vidhi

नौ दुर्गा में ब्रह्मचारिणी देवी का स्वरूप पूर्ण ज्योतिर्मय व अत्यंत भव्य है। इनके दाहिने हाथ में जप की माला व बाएं हाथ में कमंडल रहता है। साधक यदि भगवती के इस स्वरूप की आराधना करता है तो उसमें तप करने की शक्ति, त्याग, सदाचार, संयम और वैराग्य में वृद्धि होती है। जीवन के कठिन से कठिन संघर्ष में वह विचलित नहीं होता है। भगवती ब्रह्मचारिणी की कृपा से उसे सदैव विजय प्राप्त होती है। मां ब्रह्मचारिणी को शक्कर का भोग लगाएं और घर के सभी सदस्यों को दें। इससे आयु में वृद्धि होती है।

मां ब्रह्मचारिणी की आरती

जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता।

जय चतुरानन प्रिय सुख दाता।

ब्रह्मा जी के मन भाती हो।

ज्ञान सभी को सिखलाती हो।

ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा।

जिसको जपे सकल संसारा।

जय गायत्री वेद की माता।

जो मन निस दिन तुम्हें ध्याता।

कमी कोई रहने न पाए।

कोई भी दुख सहने न पाए।

उसकी विरति रहे ठिकाने।

जो ​तेरी महिमा को जाने।

रुद्राक्ष की माला ले कर।

जपे जो मंत्र श्रद्धा दे कर।

आलस छोड़ करे गुणगाना।

मां तुम उसको सुख पहुंचाना।

ब्रह्माचारिणी तेरो नाम।

पूर्ण करो सब मेरे काम।

भक्त तेरे चरणों का पुजारी।

रखना लाज मेरी महतारी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *